हिमाचल के लोग

हिमाचल प्रदेश पूर्णतया खेती बाड़ी पर निर्भर प्रदेश रहा है यहाँ की फसलें देसी खाद से लहलहाती थी हिमाचल के लोग हिमाचल की प्रकृति की तरह स्वस्थ थे
जल- जंगल – जमीन – जानवर-जड़ी- बूटी और जनमानसको अस्वस्थ एवं बंजर करने वाले पेस्टीसाइड्स और यूरिया ने कुछ समय तक तो खूब हरियाली दी लेकिन परिणाम आज सबके सामने हैं ,,,आज सब लोग शुद्ध देसी सब्जियां , फसलें शुद्ध दूध आदि खाद्य पदार्थ ढूंढते है लेकिन आज अपने ही हाथों प्रदूषित कर चुकी प्रकृति , खेतों में देसी उत्पाद उगाता कौन है …

शायद देसी गोबर की खाद के टोकरे खेतों में फेंक कर आई ये औरतें …

Comments

comments